जैन परम्परा में 24 तीर्थकर हुए , जिसमे महावीर स्वामी को जैन घर्म का वास्तविक संस्थापक माना गया ।

महावीर स्वामी

जन्म 540 b. c. जन्मस्थान वैशाली के पास कुंडग्राम में बचपन का नाम वर्धमान पिता -सिधार्थ ( ज्ञातृक क्षत्रिय कुल )

माता त्रिशला ,पत्नी यशोदा , पुत्री प्रियदर्शनी , मृत्यु काल 468 B C

जैन धर्म की शिक्षाए ;- 

त्रिरत्न    सम्यक दर्शन , सम्यक ज्ञान , सम्यक आचरण 

पंच महाव्रत अहिंसा , सत्य वचन , अस्तेय , अपरिग्रह एवं ब्रह्मचर्य 

जैन संगीतिया 

प्रथम सम्मेलन 300 BC ,स्थान  पाटलीपुत्र अध्यक्ष स्थूलभद्र , मुख्य तथ्य 12 अंगो का संकलन 

द्वितीय सम्मेलन 512 BC , स्थान वल्लभी अध्यक्ष देवर्धी    मुख्य तथ्य  12 अंगो तथा 12 उपांगो 

को लिपिबढ़ी किया गया 

 

 

 

Previous articleDifferent Written and Unwritten Constitution
Next articlegs trick Sanctuary and National Park