governor general of India list

भारत के गवर्नर जनरल सूची |governor general of India list

  • Post author:
  • Reading time:1 mins read

governor general of India list  | bharat ke governor

रोबोट क्लाइव (1757-60 और 1765-67)

  •  इस दौरान बंगाल का गवर्नर (governor general) का  रहा |
  •  भारत में 1765 में  दवैध  शासन की शुरुआत की । 
  •  यह बंगाल में  ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना और राजनीतिक  सर्वोच्चता  स्थापित करने वाला ब्रिटिश ऑफिसर था। 
  •  ऐसा कहा जाता है कि भारत में ब्रिटिश साम्राज्य की  संस्थापक रोबोट क्लाइव   था उसके प्रशंसक  उसे ”  भारत का विजेता”  कहते हैं। 
  • रोबोट क्लाइव  1757 के  प्रसिद्ध प्लासी के युद्ध में बंगाल के नवाब  सिराज-उद- दौला को पराजित कर दिया था। 
  • रोबोट क्लाइव  1743 में भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी के एक सिविल सेवक के रूप में भारत आया था, बाद में वह कंपनी की सैन्य सेवा स्थानांतरित  कर दिया गया और  1753 में इंग्लैंड वापस लौट गया। 
  •  22 नवंबर 1774  को 49  वर्ष की आयु में रोबोट क्लाइव   ने लंदन के अपने घर में आत्महत्या कर ली। 

वेंसीटर्ट (1760-65):- 

23 अक्टूबर 1764 का बक्सर का प्रसिद्ध युद्ध हेक्टर मुनरो के नेतृत्व वाले ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब मीर कासिम, अवध के नवाब शुजा-उद-दौला  और मुगल बादशाह आलम द्वितीय की संयुक्त मुस्लिम सेना के मध्य वेंसीटर्ट के समय ही लड़ा गया। 

 वारेन हेस्टिंग (1772-74) :- 

  • रोबोट क्लाइव  द्वारा 1765  में प्रारंभ किए गए  दवैध शासक  की घोषणा की। 
  • 1772 में  भूमि कर बंदोबस्त  की उत्तम व्यवस्था लागू की। 
  •  कलेक्टर और स्वराज अधिकारी की नियुक्ति की। 
  •  हिंदू और मुस्लिम कानून बनाए
  • 1775  में नंद कुमार पर  ट्रायल चलाकर  उसकी न्यायिक हत्या कर दी। 
  •  विलियम जोंस  की सहायता से 1784  में  एशियाटिक  सोसाइटी ऑफ़ बंगाल की स्थापना की। 
  • 1785  में उसके  इंग्लैंड लौटने के बाद, हाउस ऑफ लार्ड में  इसके खिलाफ महाभियोग चलाया गया। 
  •  बंगाल का पहला गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग था । 
  •   जिला स्तर पर दीवानी और फौजदारी अदलतों की शुरुआत की । 
  • 1774 में रोहिल्ला युद्ध ,  प्रथम आंग्ल- मराठा युद्ध(1776-82) और द्वितीय आंग्ल- मराठा युद्ध (1780-84)हुए । 

 लार्ड  कार्नवालिस (1786-93):- 

  • 1793 में कानूनी  को संहिताबद्ध  करने वाला पहला व्यक्ति, इस संहिता ने स्वराज प्रशासन को न्याय शासन से अलग किया। 
  • 1793  मैं अस्थाई बंदोबस्त व्यवस्था लाया। 
  •  कार्नवालिस को ”  भारत में सिविल सेवा का जनक”  माना जाता है। 
  •  इसने  तीसरे  आंग्ल मैसूर युद्ध में अंग्रेज सेना का नेतृत्व किया और मैसूर के शासक टीपू सुल्तान को पराजित किया। 
  • 1793 में मार्कस  की उपाधि धारण करने के लिए यह इंग्लैंड लौट गया, इसे प्रिवी  कैंसिल में पद मिला । 

Also Read 1857 का विद्रोह | Revolt of 1857

लार्ड वेलेजली (1793-98):- 

  • स्वयं को बंगाल टाइगर कहता था। 
  •  सहायक संधि को प्रारंभ किया। 
  •  इसके काल में मद्रास प्रेसीडेंसी बनाई गई। 
  •  सबसे पहले 1798  मैं हैदराबाद संधि में शामिल हुआ और बाद में मैसूर, तंजौर, अवध, पेशवा,भोसले,सिंधिया  सिंघिया, जयपुर, भरतपुर  इसमें शामिल हुए । 
  •  बेसिन की संधि  पर हस्ताक्षर किए और  दूसरा आंग्ल-मराठा युद्ध लड़ा । 
  • 1842 में मृत्यु हो गई । 

लार्ड मिन्टो-प्रथम (1807-1813):- 

1809 में रणजीत सिंह और अंग्रेजों के मध्य अमृतसर की संधि की । 

लॉर्ड हेस्टिंग्स (1813-223):- 

  • (governor general) गवर्नर थामस मुनरो द्वारा 1820 में मद्रास प्रेसीडेसी में रैयतवाड़ी बन्दोबस्त की शुरुआत की । 
  • हस्तक्षेप और युद्ध की नीति अपनाई । 
  • जेम्स थामसन द्वारा उत्तर पश्चिम प्रांत में भूमि कर की महालवाड़ी प्रणाली शुरू की गई । 

लार्ड  विलियम बेंटिक (1828-35):- 

  • भारत सरकार अधिनियम 1833 के अनुसार भारत का प्रथम गवर्नर जनरल था । 
  • उदार गवर्नर जनरल (governor general) के रूप में जाना जाता हैं । 
  • भारत का सबसे उदार और प्रबुद्ध गवर्नर जनरल (governor general) था और भारत में आधुनिक पश्चिमी शिक्षा का जनक के रूप में जाना जाता हैं । 
  • 1829 में सतीं  प्रथा और कन्या भ्रूण को प्रतिबंधित किया 
  • 1834 में आगरा को प्रांत बनाया । 
  • इसने उच्च न्यायालयों में अंग्रेजों को अदालत की भाषा बनाई लेकिन निचली अदलतों में पारसी ही जारी रही । 
  • कार्नवालिस द्वारा स्थापित अपील कोर्ट और सर्किट व्यस्था को समाप्त कर दिया । 
  • सर चार्ल्स मेटकाल्फ (1835-36)को प्रेस का मुक्तिदाता के रूप में जाता जाता हैं । 

Also Read Financial Institutions in India

लॉर्ड डलहौजी (1849-56):- 

  • लॉर्ड डलहौजी  व्यपगत  का सिद्धांत अपनाया जिससे 1848 में सातारा को, 1849 में जयपुर और  सभलपुर को 1850 में बघाट को, 1852 में उदयपुर,1853 में झाँसी और 1854 में नागपुर को हड़प लिया । 
  • चार्ल्स वुड के वुड डिस्पैच,जिसे अँग्रेजी शिक्षा का मैग्नाकार्टा माना जाता है,इसमें प्राथमिक शिक्षा से लेकर विश्व विद्यालय स्तर तक की शिक्षा की व्यापक योजना बनाई गई । 
  • इसमें 1853  मैं मुंबई से थाने तक पहली रेल लाइन बिछाई और कोलकाता से रानीगढ़ तक दूसरी लाइन बिछाई। 
  •  डाक एवं तार सेवा को अत्यधिक प्रोत्साहन दीया, तार लाइनें पहली बार कोलकाता से आगरा तक बिछाई गई । 
  • 1856 में हिन्दू विवाह अधिनिपारित पारित हुआ । 
  • 1854 में डाक कार्यालय अधिनियम पारित हुआ डाक टिकटों का प्रचलन पहली बार हुआ । 
  • वह भारत का सबसे कम आयु का गवर्नर जनरल (governor general) था ,उसने 36 वर्ष की आयु में कार्यभार सँभाल लियाया था रूढ़की में एक इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापित किया गया पहली बार एक पृथक लोग कार्य विभाग बनाया गया जिसमें ग्रैंड ट्रंक रोड पर कार्य प्रारंभ किया गया और कराची मुंबई और कोलकाता में बंदरगाह विकसित किया। 

 लॉर्ड कैनिंग (1856-62):- 

  • यह भारत की अंतिम गवर्नर जनरल (governor general) एवं प्रथम वायसराय था। 
  • 1857   का विद्रोह
  •  रानी विक्टोरिया की घोषणा और भारत परिषद अधिनियम 1858  का पारित होना
  •  लॉर्ड डलहौजी द्वारा प्रारंभ व्यापगत  के सिद्धांत को 1859  मैं वापस लिया गया। 
  •  कोलकाता, मुंबई और मद्रास में 1857 में  विश्वविद्यालय का नाम रखा गया। 
  • 1859-60 में बंगाल में नील विद्रोह
  •  बहादुर शाह को रंगून भेजा गया। 
  •  आईपीएस और सी आर आई पी एस अधिनियम किया गया। 
  • 1858  मैं पहली बार आयकर का व्यवस्था की गई। 
  •  भारतीय उच्च न्यायालय अधिनियम 1861  आदिअधिनियम किया गया। 

Also Read function of rbi

Also Read यूरोपियों का आगमन | European arrival in India

This Post Has One Comment

Leave a Reply

Vivek

This is Er. Vivek at getintohindi.com, he is writes about Technology,education he is qualify IBPS RRB 2019, BOB 2019