Acid-Bases-and-Salt

Acid, Bases and Salt | अम्ल,क्षार और लवण

  • Post author:
  • Reading time:1 mins read

अम्ल,क्षार और लवण सामान्य विज्ञान – रसायन (Chemistry) सामान्य ज्ञान के विषय में अम्ल, क्षार और लवण आते हैं? (Acid, Bases and Salt)  और रासायनिक नामों और सूत्रों के साथ उनका उपयोग (एसिड, बेस और नमक रासायनिक नाम और सूत्र), रासायनिक प्रतिक्रियाएं, परिभाषाएँ इस प्रकार हैं (Chemical Name & Formula ): –

अम्ल (Acid)

  • Acid शब्द की उत्पति लैटिन शब्द एसिडस (Acidus) शब्द से हुई है,जिसका अर्थ होता है -खट्टा (Sour)
  • अम्ल (Acid),यह स्वाद में खट्टा होता है 
  • वह यौगिक जो जल में घुलकर हाइड्रोजन (H+) आयन देता है और जो दूसरे पदार्थ को प्रोटॉन प्रदान करने की क्षमता रखता है, अम्ल कहलाता है।
  • अम्ल स्वाद में खट्टा होता है और अम्ल का जलीय विलयन नीले लिटमस पत्र को लाल कर देता है।

अम्ल का उपयोग :- 

  • दैनिक जीवन में भोजन के उपयोग में, जैसे – अंगूर में टार्टरिक अम्ल के रूप में, नींबू और संतरे में – साइट्रिक अम्ल, चीनी में – फॉर्मिक अम्ल, सिरका और अचार में – एसिटिक अम्ल, खट्टे दूध में – लैक्टिक अम्ल, सेब में – मैलिक एसिड सोडा वाटर और अन्य पेय पदार्थों में कार्बनिक अम्ल के रूप में पाया जाता है।अम्ल (Acid)
  • कपड़ों से जंग के दाग हटाने और फोटोग्राफी में ऑक्सालिक एसिड का इस्तेमाल किया जाता है।
  • H2SO4 और HNO3 का उपयोग विस्फोटक, उर्वरक, दवाएं बनाने और लोहे की सफाई आदि में किया जाता है।
  • नाइट्रिक एसिड का उपयोग सोने और चांदी के शुद्धिकरण में किया जाता है।
  • भोजन के पाचन में एचसीएल एसिड का उपयोग किया जाता है। अम्ल क्षारअम्ल (Acid)

अम्ल के उदाहरण :-

  • एसीटिक अम्ल (CH3COOH) : – सिरके में 3-6% एसिटिक अम्ल होते है । यह अचार बनाने में ,सलाद में एवं खाद पदार्थो के परीक्षण (Preservation) में प्रयोग किया जाता है ।
  • सिट्रिक अम्ल (C6H8O7) :- यह चमकदार नमक (Effervescant Salt ) बनाने ,धातुओ को साफ करने एवं खाद संरक्षण के रूप में प्रयोग किया जाता है ।
  • सल्फ्यूरिक अम्ल (H2SO4) :- कार की बैटरियों , पेट्रोलियम शोधन ,डाई , पेंट आदि के निर्माण में प्रयोग किया जाता है ।
  • नाइट्रिक अम्ल (HNO3), :- उर्वरक , विस्फोटको के निर्माण में तथा राकेट ईधनों में आक्सीकारक (Oxidizer) के रूप में प्रयोग किया जाता है ।
  • हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCL) :- रंजको, औषधियों एवं प्लास्टिक निर्माण में प्रयोग किया जाता है ।
  • बोरिक एसिड (H3BO3) :- पादपों में बोरान की कमी दूर करने के लिए ,चावल ,गेहु के संरक्षण में , फाइबर ग्लास के निर्माण में तथा कैरम बोर्ड पर ड्राई लुब्रीकेंट के रूप में प्रयोग किया जाता है ।

क्षार (BASES)

-ऐसे यौगिक जो अम्ल से अभिक्रिया करके लवण और जल देते हैं, जिनमें प्रोटॉन ग्रहण करने की प्रवृत्ति होती है और जल में घुलने पर हाइड्रॉक्सिल आयन (OH-) देते हैं, क्षार कहलाते हैं।

ये क्षार स्वाद में कड़वे होते हैं और लाल लिटमस को नीला कर देते हैं।

क्षार का उपयोग ;- 

  •  दैनिक जीवन में, कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड [Ca(OH)2] का उपयोग घरों में चूना पत्थर, घोल और प्लास्टर बनाने, मिट्टी की अम्लता को दूर करने, ब्लीचिंग पाउडर बनाने, पानी को नरम करने और जलने पर ड्रेसिंग के लिए किया जाता है। में किया जाता है।
  • कास्टिक सोडा (NaOH) का उपयोग साबुन बनाने, पेट्रोलियम की सफाई, कपड़ा और कागज बनाने आदि में किया जाता है।
  • खाली चूना (CaO) का उपयोग घरों के निर्माण, कांच और ब्लीचिंग पाउडर बनाने में घोल के रूप में किया जाता है।
  • मिल्क ऑफ मैग्नेशिया या मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड Mg(OH)2 का प्रयोग पेट की एसिडिटी को दूर करने के लिए किया जाता है।

क्षारक के उदाहरण :-

  • अमोनियम हाइड्रोक्साइड (NH4OH),
  • सोडियम हाइड्रोक्साइड  (NaOH),
  • पोटैशियम हाइड्रोक्साइड  (KOH)
  • , मैग्निशियम हाइड्रोक्साइड  (Mg(OH)2)
  • कैल्शियम हाइड्रोक्साइड  (Ca(OH)2)
  • , सोडियम हाइड्राइड़  (NaH)

लवण या नमक (Salt) :- 

  • लवण  एक यौगिक है जो एक एसिड के एक या एक से अधिक हाइड्रोजन परमाणुओं के आधार के एक या एक से अधिक धनायनों के प्रतिस्थापन से बनता है, अर्थात एक अम्ल और राख के बीच की प्रतिक्रिया से नमक बनता है। इसमें नमक के अलावा पानी भी बनता है।
  • बेकिंग सोडा या बेकिंग सोडा या सोडियम बाइकार्बोनेट (NaHCO3) का उपयोग बेकिंग पाउडर के रूप में, पेट की अम्लता को दूर करने और अग्निशामक यंत्रों में किया जाता है।
  • साधारण नमक यानी सोडियम क्लोराइड (NaCl) का उपयोग भोजन में, अचार के संरक्षण में और मांस और मछली के संरक्षण में किया जाता है।
  • डिटर्जेंट का पाउडर बनाने के लिए कास्टिक सोडा या सोडियम हाइड्रोक्साइड (NaOH) का उपयोग किया जाता है।
  • कपड़े धोने के लिए वाशिंग सोडा या सोडियम कार्बोनेट (Na2CO3) का उपयोग किया जाता है।
  • पोटेशियम नाइट्रेट या साल्टपीटर (KNO3) का उपयोग बारूद बनाने और उर्वरक के रूप में किया जाता है। पोटेशियम नाइट्रेट को साल्टपीटर भी कहा जाता है।

लवण या नमक (Salt) के उदाहरण

सोडियम क्लोराइड (NaCl) या साधारण नमक :- भोजन निर्माण एवं अचार के परीक्षण हेतु ,अत्यधिक ठंडे देशों में जमी हुई बर्फ पिघनाले के लिए

सोडियम हाइड्रोक्साइड (NaOH) या कास्टिक सोडा :- डिटर्जेट के निर्माण में , कागज के निर्माण के लिए लकड़ी की लुगदी बनाने में , बक्साइट अयस्क के शोधन में

पोटैशियम नाइट्रेट (KNO3):- उर्वरक,काँच , गन पाउडर (बारूद) एवं औषधि निर्माण तथा संवेदनशील दातों के निर्माण में , राकेट ईधन में आक्सीकारक के रूप में

कुछ सामान्य पदार्थों के Ph मान

पदार्थ (Substances) Ph मान
बैटरी में प्रयुक्त अम्ल 0-1
जठर रस 1.2-2
सिरका , नींबू का रस 2.2-3.4
सोडा , शराब , संतरा का रस 3.2-3.9
बियर , टमाटर 4.0-4.4
black काफी 4.5-5.5
अम्ल वर्षा 2.0-5.6
समान्य वर्षा 5.6-6
दूध , लार 6.4-6.6
शुद्ध जल 7
मानव मूत्र 7.3-7.5
समुंदरी जल 7.5-8.4
बेकिंग सोडा 9.2
साबुन युक्त जल 12.5

Leave a Reply