Respiratory System in Hindi
Respiratory System in Hindi

Respiratory System in Hindi

  • Post author:
  • Reading time:1 mins read

श्वसन तंत्र (Respiratory System)

  •  सभी जीवो में कोशिकीय ( Cellular) स्तर पर ऑक्सीजन (Oxidation) की उपस्थिति में भोजन के जैविक ऑक्सीकरण की क्रिया को श्वसन कहलाती है । जैविक क्रियाओं में संचालन के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है।Respiratory System in hindi
  •  श्वसन के समय  मुक्त ऊर्जा एडीनोसीन  ट्राईफास्फेट (ATP) के रूप में परिवर्तित होकर रासायनिक ऊर्जा के रूप में संचित हो जाती है। 
  •  मनुष्य में  श्वसन Respiratory System   दर लगभग 12 से 15 बार  प्रति मिनट होती है
  •  सामान्य श्वसन Respiratory System के दौरान लगभग 1500 मिली  वायु फेफड़ों में  प्रत्येक श्वसन  चक्र में ग्रहण की जाती है।  इसे फेफड़ो की कार्यात्मक अवशेष  कहते हैं । 

श्वसन  के दो प्रकार होते हैं  जिन्हें क्रमश:  ऑक्सी और अनाक्सी श्वसन   कहां जाता है

 ऑक्सी श्वसन  (Aerobic Respiration) :Respiratory System in hindi

  •  ऑक्सीजन की उपस्थिति में ग्लूकोज का संपूर्ण जारण  ऑक्सी श्वसन   कहलाता है। ऑक्सी श्वसन   की क्रिया में 38 ATP  के रूप में ऊर्जा का उत्पादन होता है
  • ऑक्सी श्वसन  की क्रिया कोशिकाओं के कोशिका द्रव और माइट्रोकांड्रिया  के अंदर संपन्न होती है। 
  •  कोशिका द्रव में  ग्लाइकोलिसिस  क्रिया के द्वारा   ग्लूकोज  पायरवीक में तोड़ा जाता है ।   इस विखंडन के दौरान 2 ATP  के रूप में ऊर्जा का उत्पादन होता है। 
  • ग्लाइकोलिसिस  क्रिया को ऑक्सी और  अनाक्सी श्वसन  का Comman Step माना जाता है। 
  • क्रेब्स  चक्र की क्रिया  माइटोकॉन्ड्रिया के अंदर संपन्न होती है । क्रेब्स  चक्र के दौरान  पायरविक   अम्ल  कार्बन डाइऑक्साइड और जल में विखंडित हो जाती है। 
  •  इस  विखंडन के दौरान 36 ATP  के रूप में ऊर्जा का उत्पादन होता है। 
  • पायरविक अम्ल  का विखंडन ऑक्सीजन की उपस्थिति व  अनुपस्थिति दोनों में होता है । 
  •  जब मनुष्य अधिक कार्य करता है तो मांस पेशियों में ऑक्सीजन के अभाव में पायरवीक  अमल का विखंडन  लैक्टिक अम्ल और कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) में हो जाता है। 
  •  लैक्टिक अम्ल  जमाव  के कारण  मांसपेशियों में दर्द होता है। 

अनाक्सी श्वसन (Anaerobic Respiration):- Respiratory System in hindi

आक्सीजन की   अनुपस्थिति  में ग्लूकोज का ऑक्सीकरण या जारण अनाक्सी श्वसन कहलाता है। 

 मांसपेशियों में दर्द का कारण  संबंधित कोशिकाओं में  ऊर्जा की कमी को भी माना जाता है क्योंकि अनाक्सी श्वसन की क्रिया में 2 ATP  के रूप में ऊर्जा का उत्पादन होता है

 जब अनाक्सी श्वसन की क्रिया जीवाणु और कवक में होती है तो इसे किंडवन (Fermentation)  कहां जाता है 

श्वासच्छोसवास (Breathing) :- 

  •  समान्यत:  सांस लेने की श्वासच्छोसवास  कहा जाता है।  इस क्रिया में उर्जा का उत्पादन नहीं होता है। 
  •  वायुमंडल में ऑक्सीजन का फेफड़ों में ग्रहण करना और  शरीर के विभिन्न भागों में आई हुई  कार्बन डाइऑक्साइड गैस को वायुमंडल में मुक्त करने की क्रिया को श्वासच्छोसवास  कहा जाता है। 
  •  श्वसन क्रिया  की शुरुआत डायफ्राग्म (Diaphragm) के क्रियाशील होने से होती है। Respiratory System in hindi
  • श्वसन के दौरान सर्वाधिक मात्रा में नाइट्रोजन  गैस (78%)  ग्रहण की जाती है और सबसे ज्यादा नाइट्रोजन 78%  ही छोडी  जाती है। 
  • ऑक्सीजन 21%  ग्रहण की जाती है तथा 16%  छोड़ी जाती है। 
  •  कार्बन डाइऑक्साइड .03% ( वातावरण  में  भी इतना ही मात्रा में है)  ग्रहण की जाती है  तथा 4%  छोड़ी जाती है। 
  • ऑक्सीजन का ग्रहण एवं कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन  “हीमोग्लोबिन” की मात्रा पर निर्भर होता है । 
  •  गैसों का विनियम परासरण (Diffusion) क्रिया द्वारा होता है । Respiratory System in hindi
  • ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में  अनाक्सी ऑक्सीजन होता है  इसमें कार्बोहाइड्रेट का अपघटन  के फल स्वरुप  एथिल अल्कोहल और जल का निर्माण होता है। 
  •  अधिक  परिश्रम करने पर “लैक्टिक एसिड”  का निर्माण होता है जिससे थकान महसूस होती है । 
  • कार्बन डाइऑक्साइड का संवहन  मुख्यत:  बाइकार्बोनेट आयरन (HCO3) के रूप में रूप में होती है 

निष्कर्ष 

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम सब ने Respiratory System in Hindi क्या होता है बहुत सारे Respiratory System in Hindi में मुख्य Point के बारे में बात किया यदि आपको Respiratory System से जुड़ा आज का पोस्ट पसंद आया हो तो इसे शेयर और कोई त्रुटि रह गया हो तो कमेंट करके जरुर बताये। धन्यवाद

Also Read Science notes in hindi

This Post Has 4 Comments

  1. Pawan

    I really got a knowledge full content keep doing

  2. Pawan

    Mind-blowing

  3. Pawan

    Good content

Leave a Reply